banner1 banner2 banner3
Bookmark and Share

ph3

बाबा जयगुरुदेव मानव हितकारी, लौकिक व पारलौकिक दिव्य अध्यात्मिक सत्संग में बाबा रतन दास ने कहा कि मानव शरीर सेवा के लिए बना है। शाकाहार मानव को बीमारियों से दूर रखेगा। मात्र क्षणिक संतुष्टि के लिए व्यक्ति मंदिर रूपी अपने शरीर को दूषित कर रहा है। बीमारी की गंभीर अवस्था में पहुंचने पर ज्ञान आने से पूर्व ही सचेत हो जाएं।

वह सोमवार को नेबुआ रायगंज के समीप लक्ष्मीपुर स्थित सरस्वती इंटर कालेज में तीन दिवसीय लौकिक व पारलौकिक दिव्य अध्यात्मिक सत्संग के दूसरे दिन श्रद्धालुओं से सत्संग कर रहे थे। सत्संग की शुरुआत प्रार्थना सभा से हुई। इस दौरान सामाजिक कुरीतियों पर प्रहार करते हुए श्रद्धा व भक्ति की राह दिखाई। मानव के व्यवहार, आचार, विचार को संतुलित कर मानवी प्रेम, भाईचारा को बढ़ावा देने पर जोर दिया। सत्संग के दौरान जय गुरुदेव नाम प्रभु का..आदि के जयकारे लगते रहे। इस दौरान बंगाली यादव, सुरेन्द्र पाल मल्ल, दशरथ ¨सह, बाबूराम चौधरी, डा. सत्यदेव जायसवाल, सुदामा चौधरी, ओम प्रकाश मद्देशिया, अवधू यादव, रामलोचन कुशवाहा, छटठू प्रसाद, ¨सटू, शुभम, लीलावती, मनोरमा, नीतू, लाडली, साधना, सोनिया, कृतिका, माही, मेधा, कमलावती, मालती, धर्मा देवी, गायत्री, हीरामती समेत हजारों की संख्या में महिला व पुरुष श्रद्धालु मौजूद रहे।

275957