banner1 banner2 banner3
Bookmark and Share

केरल में पाम संडे के साथ ही रविवार को ईसाई समुदाय का पवित्र पैशन वीक शुरू हो गया। यह दिन ईसा मसीह के गधे पर जेरूसलम पहुंचने के रूप में मनाया जाता है। कहा जाता है कि इस दिन लोगों ने उनके समक्ष अपने परिधान व पेड़ों की छोटी-छोटी टहनियां रख दी थीं।

कई गिरजाघरों में श्रद्धालुओं के बीच शनिवार को नारियल के पत्ते वितरित किए गए। ये वे पत्ते थे, जिन्हें या तो चर्च परिसर में मौजूद नारियल के पेड़ से काटा गया था या श्रद्धालु एक दिन पहले इन्हें लेकर चर्च पहुंचे थे और वहीं रख दिया था।

परम्पराओं के अनुसार, लोग इन पत्तों को घर ले जाते हैं। ईसा मसीह की तस्वीर के सामने रखते हैं और फिर चर्च को लौटा देते हैं।

ईसाई परिवार ईस्टर से पहले 40 दिन तक शाकाहारी भोजन ही करते हैं। वर्षो पहले बहुत से ईसाई परिवार केवल गीला चावल और अचार ही दोपहर के भोजन में लेते थे। लेकिन अब चीजें काफी हद तक बदली हैं।

272892